Breaking

Supply chain management - Offline business Vs Online business

Supply chain management : अगर आप एक online business या offline business करना चाहते हो। तो आपको supply chain management  औऱ dealership management system और इन दोनों से भी ज्यादा जरूरी business terminology जो है। उसके basic part की knowledge होने जरूरी है। और साथ ही साथ आपको यह भी पता होना चाहिए कि यह business terminology के basic part क्या काम करते है। तो ज्यादा जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा step by step follow करें
            
 
supply-chain-management-system

Supply chain management

 
Online business या फिर कोई offline business करने के ऐसे बहुत तरीके है। जिनमे हर कोई अपना career बनाना चाहता है। लेकिन ऐसे बहुत ही कम लोग होते है। जो इस काम को करने में कामयाब हो पाते है। और उस सब के पीछे सिर्फ दो कारण हो सकते है।
जिसमे से पहले DMS एंड SCM और दूसरा business strategy जिन्हे वो भली भांति समझ लेते है। और साथ ही साथ उनके success होने के पीछे की महनत का राज। जो हर कोई नही करता है। अगर आप भी online business या offline business में अपना कैरियर बनाना चाहते हो। तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Online business क्या है:

Online business भी offline business की तरह है। सिर्फ कुछ थोड़ा बहुत बदलाव होता है। इन दोनों के बीच क्या difference है यह मेने अगले स्टेप में समझा-या है। offline business Vs online business. Note: इन दोनों के बीच तुलना करने से पहले बता दु। की online business चलाना हर किसी के बस की बात नही होती है। और ऐसा होता भी तो आज इस दुनिया मे जीतने भी लोग है। सिर्फ online काम ही कर रहे होते।

Offline business Vs online business

Offline business: 

आपको offline business setup करने के लिए एक अलग जगह की ज़रूरत होती है। और उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण की आपको अपने customer को atract करने के लिए एक अच्छे physical shape की जरूरत होती है। और इस काम को करने के लिए आपको घर से बाहर जाना पड़ सकता है। साथ ही साथ आपको अपनी offline business के लिए investment करना ही होता है। और गाइस बात करे मेहनत की, तो ऐसा कोई काम नही है जिसमे मेहनत न करनी पड़े चाहे, वो एक tea stole ही क्यों न हो।

Online business: 

आपको online business setup करने के लिए सबसे पहले जो ज़रूरी चीज जो हैं। एक आपके पास laptop या computer होने के साथ ही साथ एक अच्छा internet connection भी होना चाहिए। और सबसे अच्छी बात यह कि आपको अपने घर से बाहर नही जाना होता है। और इसमे कोई अलग से एक office या store की भी ज़रूरत नही होती है। और गाइस मेहनत इसमे भी बहुत है।

Top 5 genuine way for online business

आप लोगो में से ऐसे बहुत लोग होंगे जो online business और work करने के बारे में सोच रहे है । लेकिन आप यह decide नही कर पाते है। की कोनसा ऐसा तरीका है। जिससे एक passive earning करने का source बना सके। तो गाइस मेने ऐसे Top 5 genuine way अपने इस blog netearnpoint.com पर बताए हुए है। जिनकी लिस्ट मे ने नीचे दी हुई है।

Blogs and website:

अगर आपको article लिखना अच्छा लगता है। तो आप अपने article लिख कर blogger या wordpress पर अपना एक blog या website बनाकर अपने article publish करके google adsense से पैसे कमा सकते हो। और जब आपको इंसमे success मिल जाये, तो आप आपनी एक team बनाकर भी कम कर सकते हो।

Affiliate marketing:

e-commerce website जैसे Amazon, flipkart जैसी और भी कंपनी अपना एक free का program चलती है। जिसमे आप अपना account बनाकर उनके उनके product को अपनी affiliate link से sale करते ही। जिसके बदले में कंपनी आपको product sale करने के बदले में कुछ commission देती है।

Freelancer job: 

अगर आपको software development, website development, android develop, data entry, logo designing etc. अगर इंसमे से कुछ भी आप कर सकते हो, तो Upwork एंड Fiverr website पर जाकर अपनी एक profile approval करके यंहा से भी अच्छा earn कर सकते हो।

Drop shipping: 

अगर आप चाहते हो कि online किसी product को कुछ पैसों में खरीद कर online ही थोड़े ज्यादा पैसों में sale करदे। तो ऐसी बहुत website है। जैसे amazon, eBay, shopify etc. जिन पर आप अपना account create करके अपने माल को customer तक ship कर सकते हो। लेकिन गाइस shopify मेरे हिसाब से सबसे अच्छी साइट है dropshipping के लिए। ज्यादा जानने के लिए इस पोस्ट को पड़े।

E-commerce business: 

गाइस मैं e-commerce business आज के समय मे बहुत ज्यादा चल रहा है। क्योंकि आज कल हर किसी के पास एक smartphone होने के साथ ही साथ अच्छा और सस्ता internet connection होता है। तो ऐसे में internet user की यह demand ज्यादा होती है। कि वो offline कुछ भी खरीदने की वजह online ज्यादा पसंद करते है।
अगर गाइस आप मे से किसी का भी कोई offline business है। तो आप आपने product को किसी भी e-commerce website जैसे amazone, eBay, आदि के ज़रिया sale कर सकते हो। या अपनी खुद की e-commerce website भी बनाकर product को sale कर सकते हो।

Supply chain management  क्या है।

SCM एक global management है। जिसमे एक business को चलाने के लिए। row martial से लेकर consumer तक पहुंचाने का काम होता है। इसे individually समझा झाये, तो SCM एक किसी काम को करने का वह process है। जो भी आप काम कर रहे हो, उस काम से related जितने भी छोटे-बड़े काम जैसे control, plans, executing, returns, payment, आदि को देखना होता है।
दूसरे शब्दों में, supply chain management एक ऐसा management है, जिसमे एक सही  planing के साथ एक सही माल (product) को बनाकर सही मात्रा (quantity) में अपने customer तक delivery करना।

Supply chain management काम कैसे करता है।

supply-chain-management-system
Supply chain management
SCM (supply chain management) के काम करने का process जो है। manufacturing मतलब किसी product को बना कर थोक विक्रेता (wholesaler) तक, और थोक विक्रेता से लेकर फुटकर विक्रेता (retailer) तक, और फुटकर विक्रेता से लेकर लास्ट स्टेप ग्राहक (consumer) तक पहुंचाने होता है। इस प्रोसेस को आप दी हुई picture से भी समझ सकते है।

Note: supply chain management process में, product को भेजने के साथ के Bill Payment भी भेजना होता है।

Supply chain management process on 6 steps:

  • Raw material
  • Supplier
  • Manufacturer
  • Retailer
  • Customer
  • Return

Raw material:

business को चलाने के लिए आपको SCM के process के हिसाब से एक product के लिए कैसा raw material जरूरी है। इस सब पर focus and planning करते है।

Supplier एंड develop:

product को तैयार करने से पहले आपको supplier से contract करना होता है। और जिसमे आपको अपने supplier के साथ एक अच्छा relationship बनाकर रखना चाहिए। क्योंकि इंसमे आप अपने contractor से paymet charge, delivery charge, और यंहा तक कि एक वाहन को finalize करते है।

Manufacture:

अपने product को contract के तहत पूरी तह से complete कर लेना करना होता है। और उसके बाद अपने product को check करके package करते है। उसके बाद माल को मार्केट में उतारा जाता है।

Retailer:

product के बन जाने के बाद अलग-अलग distributor के माध्य्म से अलग-अलग बाजार में product को उतारा जाता है।

Customer:

retailer के हेल्प से customer को यह माल sale किया जाता है। और यह स्टेज जो है  supply chain management लास्ट स्टेज होती है। Return: अगर कोई भी damage समान होता है। तो उसे product को ग्राहक बापस कर देता है।

Dealership management model क्या है। इसका काम क्या है।

supply-chain-management-system
SCM एक auto dealership management system भी बोल जाता है। क्योंकि डीलर जो होता है। वह एक चैन की तरह काम करता है। मतलब एक dealer के नीचे बहुत सारे retailors काम करते है अब यह process होता कैसे है। यह भी आप image के ज़ारोये समझे।

Dealership management system work on 5 stages:

  • Dealer
  • Wholesaler
  • Counter sales
  • Retailer
  • Consumer

Dealer:

Dealer एक विक्रेता होता है उसका काम बड़ी संख्या में product को बनाकर wholesaler को बेचता है। और जिन wholesaler की संख्या संख्या कुछ भी हो सकती है।

Wholesaler:

wholesaler एक थोक विक्रेता होता है। जो अलग-अलग dealer के साथ जुड़ा हुआ होता है। और यह सब डीलर भी अलग-अलग product बनाते है। जंहा से एक wholesaler अलग-अलग डीलर से अलग-अलग product खरीदता है। और wholesaler अपने प्रोडक्ट को counter saler को resale या दोबारा बेकता है

Counter saler:

counter saler का मतलब है। किसी एक particular wholesaler से जुड़े हुए रहना। जंहा से वह किसी एक particular category का समान खरीदता है। और बाद में यह अपने सामान को retailer को बेक देता है।

Retailer:

retailer एक फुटकर विक्रता होता है। जिनकी संख्या कुछ भी हो सकती है। और यह विक्रता जो होते है। directly अपने खरीदे हुए समान को consumer या customer तक sale करते है।

Consumer:

consumer का मतलब होता है। user या customer जो directly आने utilisation के लिए retailer से किसी भी समय अपने सामान को ख़रीद सकता है।

E-commerce business के लिये कैसी strategy बनानी चाहिए।

E-commerce business को चलाना हर किसी के बस की बात नही होती है। तो ऐसा क्या करे, जिसकी सहायता से कम से कम इतना idea मिल जाये। की छोटे लेवल पर e-commerce business कोई कारना चाहे, तो उसको business चलाने में थोड़ी आसानी हो जाये।

Some strategy for grow business on small level:

Guys यह strategy मे ने उन लोगों से सीखी है जो आज के समय मे success है। अगर आप इन सभी strategy पर focus करके work करते है, तो सच बता रहा हुं। आपका चाहे कोई सा भी business क्यों न हो आपको अपना business पहले स्तर से उपर उठता हुआ देखने को मिलेगा। लेकिन आपको मेहनत बहुत करनी पड़ेगी। और यह स्टेप कुछ इस तरह है।

Step1.अगर आप कोई e-commerce business करना चाहते हो, तो पहले आप यह देखे की किस समय लोग ज्यादा shopping करते है। उसी हिसाब से अपने product को online marketing के जरिये। sale करे लेकिन discount पहले से कम रखकर चले। अगर online marketing से related ज्यादा knowledge नही है,तो आपके लिए flipkart की strategy ज़रूर पड़े जिसकी लिंक मेने नीचे दे रखी है।
Step2.आपको supply chain management सिस्टम को अच्छे से समझ लेना चाहिए। जिसके ऊपर जो है हम पहले ही बता चुके है।

Step3.आपको अपने product को साले करने के लिए। एक dealership वाली thinking की ज़रूरत होनी चाहिए। क्योंकि एक dealer कोई भी फैसला लेने से पहले यह देखता है। की trending market में ज्यादा किस चीज की demand हो रही है। उस हिसाब से डीलर प्लायर से contact करके। अपने प्रोडक्ट को तैयार करके market में wholesaler को बेच देता है।

Step4.आपकी communication skill अच्छी होने के साथ ही साथ लोगो के behaviour को समझना बहुत ज्यादा ज़रूरी है । अपने business को समझने में। चाहे फिर आपका कोई online business हो या फिर offline यह इस स्टेप को अलग नही करता है।


Step5.आपको marketing करना अच्छे से आना चाहिए और marketing grow करने के लिए अपने category से related उन competitors को फॉलो करें जो present में success है। तो यह कुछ strategy थी अपने कारोबार को grow करने के लिए। बेसे तो बहुत strategy है जिनकी मै इस ब्लॉग पर जानकारी देता रहता हूं।

Dropshipping के लिए DMS कैसे काम करता है।

इसका DMS (dealer management system) भी same काम करता है। बस drop shipping करने का प्रोसेस अलग होता है। drop shipping से रिलेटेड मेने एम article पहले से पोस्ट किया हुआ है। आप इस पोस्ट से ज्यादा जानकारी ले सकते हो।

Conclusion:

गाइस यह पोस्ट dropshipping से रिलेटेड है। और आज का मेरा main motive था business terminology के उपत बताना। की dealer management system और supply chain management सिस्टम कैसे काम करता है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आज को पोस्ट में आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। अगर फिर भी आपको कोई problem है इस topic को लेकर तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते है। धन्यवाद☺️…..

No comments:

Post a Comment